सवर्ण जाति आरक्षण योजना 2019 | Swarn Caste Reservation Scheme (Yojana) 2019

जाने जनरल केटेगरी रिजर्वेशन या सवर्ण जाति आरक्षण योजना क्या है  (General Category Reservation or Swarn Caste Reservation in India in Hindi)

भारत में अनेक धर्म और जाति के लोग निवास करते है जिनमे की अनुसूचित जाति (SC),अनुसूचित जनजाति (ST), पिछड़ा वर्ग (BC), अन्य पिछड़े वर्ग (OBC) एवं जनरल (General category) शामिल है .हमारे देश में शुरू से ही अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा पिछड़ा वर्ग के लोगों को हर जगह प्राथमिकता (Priority) प्रदान की जाती है फिर वो चाहे सरकारी नोकरियां में ,रोजगार प्रदान करने में या फिर शिक्षा क्षेत्र ही क्यों ना हो हर जगह आरक्षण प्रदान किया जाता है .चाहे इन जातियों के लोगों की आर्थिक स्थिति चाहे कितनी ही मजबूत हो फिर भी ये लोग आरक्षण (Reservation)का भरपूर फायदा उठाते आये है .

Upper caste reservation scheme 2019 In Hindi

वर्तमान में चल रही आरक्षण व्यवस्था से वास्तविक रूप से कमजोर सामान्य या सवर्ण वर्ग के लोगों को इससे बहुत नुकसान होता है. क्योकि आरक्षण व्यवस्ता के चलते इस वर्ग के लोगों शिक्षा और रोजगार के अवसर नही मिल पाते है और वो ओर्र अधिक पिछड़ जाते है.परन्तु अब देश की वर्तमान मोदी सरकार ने स्वर्ण जाति के लोगों को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए 7 जनवरी 2019 को एक बिल पारित किया है जिसमे स्वर्ण कास्ट यानी जनरल केटेगरी में आने वाले ऐसे लोग जिनकी माली हालत सही नही है उनके लिए 10% आरक्षण की व्यवस्था करने जा रही है जो की जल्द ही लागू हो जायेगी .

Upper caste reservation scheme 2019

आइये जानते हैं की सवर्ण या सामान्य वर्ग के लोगों के लिए जो 10% आरक्षण की व्यवस्था का बिल पास किया गया (General category 10 percent reservation bill)उसमे किन-किन लोगों को और किस प्रकार से इसका लाभ मिलेगा तथा सामान्य वर्ग आरक्षण के लाभ,आरक्षण क्यों,आरक्षण की वर्तमान स्थिति,आरक्षण का विरोध तथा अन्य महत्वपुर्ण जानकारी .

महत्वपूर्ण जानकारी (Important Information about General Category Reservation)

सबसे पहले इस चार्ट के माध्यम से जानिये की इस स्वर्ण आरक्षण विधेयक के प्रमुख महत्वपुर्ण बिन्दु .
क्र. म. (s.No.) जानकारी बिंदु (Information Points) जानकारी (Information)
1. बिल का नाम (Bill Name) जनरल केटेगरी या सवर्ण जाति आरक्षण
2. केटेगरी (Category) केंद्र सरकार की योजना 2019
3. लांच किया गया (Launched By) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा
4. लांच की तारीख (Launched Date) 7 जनवरी 2019
5. लाभार्थी (Beneficiary) सवर्ण वर्ग (General Category)
6. उद्देश्य (Objective) वास्तविक रूप से पिछड़े स्वर्ण वर्ग के लोगों को 10% आरक्षण दे कर शिक्षा और रोजगार के अवसर दिलाना .
7. स्थिति (Status) Approved (लोकसभा एवं राज्यसभा द्वारा पारित किया जा चूका है तथा राष्ट्रपति की भी मंजूरी मिल गई है)

सवर्ण जाति आरक्षण बिल की प्रमुख विशेषताएं (Swarn Category Reservation Bill Features)

  • आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए :-इस योजना देश के उस वर्ग को लाभ पहुंचेगा जो  सामान्य या सवर्ण वर्ग से संबंध रखते हैं परन्तु जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर है 
  • इसके योजना के तहत सवर्ण वर्ग को 10% आरक्षण ( ) प्रदान किया जा रहा है
  • योजना से सामान्य वर्गों के बीच जो गरीबी का स्तर है वो कम हो सकेगा .
  • अब जनरल केटेगरी के लोगों को भी सरकारी नौकरी प्राप्त करने के पर्याप्त अवसर मिल सकेंगे.
  • उच्च शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश के अब समान्य वर्ग के लोगों को भी अवसर प्राप्त हो सकेंगे.
  • अब से पहले इस वर्ग के लोगों को किसी भी प्रकार का आरक्षण में लाभ नहीं मिल पता था.
  • सिर्फ सवर्ण हिंदू ही नहीं, गरीब अल्पसंख्यक भी आएंगे 10 फीसदी आरक्षण के दायरे में.

पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)

  • आय सीमा :- ऐसे स्वर्ण परिवार जिनकी वार्षिक आय 8 लाख रूपये से कम हैं, उन्हें सरकार द्वारा 10 % आरक्षण का लाभ प्राप्त होगा.  हालांकि संसद में चर्चा के दौरान कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि राज्य सरकारें चाहे तो इस सीमा में बदलाव कर सकती है.
  • कृषि भूमि :- सवर्ण जाति के वे लोग जिनके पास 5 एकड़ से ज्यादा कृषि भूमि नहीं है  उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा .
  • शहरी क्षेत्र में घर :- आवेदक शहरी क्षेत्र से है और उसका घर 1000 स्क्वायर फीट से कम एरिये में हैं.
  • ग्रामीण क्षेत्र में घर :- यदि आवेदक ग्रामीण क्षेत्र में रह रहा है तो उसके घर का एरिया 2000 स्क्वायर फीट से ज्यादा नहीं होना चाहिए.

बिल के पारित होने की प्रक्रिया (Bill Passed Process)  

General category 10 percent reservation bill :सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 10% आरक्षण दिए जाने के लिए सरकार द्वारा बिल की घोषणा की गई. इसके बाद इसे संसद के दोनों सदनों में पास करवाया गया . लोकसभा के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन में यानि 8 जनवरी 2019 को इस बिल को पेश किया गया था. जहाँ 323 – 3 के वोटों के मार्जिन के आधार पर बिल पास कराया गया. इसके बाद इस बिल को दुसरे दिन राज्य सभा में पेश किया गया, जहाँ काफी बहस के बाद 165 – 7 के वोट मार्जिन के साथ बिल को मंजूरी दे दी गई. दोनों सदनों से बिल पास होने के बाद इसे आखिरी मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा गया और 12 जनवरी 2019 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा मंजूरी दे दी गयी .

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी द्वारा मंजूरी मिलने के साथ ही स्वर्ण वर्ग के लोगो को सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में दस फीसदी आरक्षण का रास्ता बिल्कुल साफ हो गया है. इस बावत सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है. बताया जा रहा है कि एक हफ्ते के अंदर दस फीसदी आरक्षण का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा. अब सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय एक हफ्ते के भीतर इस कानून से जुड़े प्रावधानों को अंतिम रूप देगा. बता दें कि ये आरक्षण इस वक्त एससी, एसटी और ओबीसी समुदाय के लोगों को मिलने वाले 49.5 फीसदी रिजर्वेशन के अलावा होगा.

मुख्य बिंदु (Importent Points)

इस बिल से जुड़ी कुछ खास बातें इस प्रकार हैं –

  • केंद्र की मोदी सरकार द्वारा उठाये गये इस कदम के बाद लोगों द्वारा इस योजना को ‘मोदी की सवर्ण क्रांति’ के नाम से भी सम्बोधित किया जा रहा है.
  • वर्तमान में एससी, एसटी और ओबीसी समुदाय के लोगों को मिलने वाले 49.5 फीसदी रिजर्वेशन के अलावा है ये बिल इससे अन्य जातियों को मिल रहे आरक्षण पर कोई फर्क नही पड़ेगा .
  • स्वर्ण आरक्षण बिल को लागू करने के लिए भारत के संविधान के अनुच्छेद 15 और 16 में संशोधन किया जायेगा.

कब से होगा लागू

आरक्षण बिल को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है और ये , 1 हफ्ते में लागू हो जाएगा जिसके बाद जनरल केटेगरी या सवर्ण जाति के लोगों को 10% रिजर्वेशन का लाभ मिलने लग जाएगा

सवर्ण जाति आरक्षण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज (Document)

अगर आप भी इस योजना का फायदा उठान कहते है तो जल्दी से अपने डाक्यूमेंट्स पुरे कर ले लेट हुए तो नहीं मिलेगा आपको सवर्ण आरक्षण लाभ ! आइये जानते है की इसके लिए कौन कौन से दस्तावेज चाहिए . (Documents Needed for Upper Cast Reservation)

  • आय प्रमाण पत्र :-आरक्षण का लाभ उठाने के लिए आय प्रमाण पत्र दिखाना ताकि साबित कर सके की आपकी सालाना आय आठ लाख रुपये से कम है.
  • जाति प्रमाण पत्र :-आपके पास जाति प्रमाण पत्र होना चाहिए इससे पहले सामान्य कास्ट के लोगों को इसकी ज्यादा जरूरत नही पड़ी इसलिए ज्यादातर लोगों के पास जाति प्रमाण पत्र नहीं होता है.
  • पैन कार्ड :-पैन कार्ड अगर नही है तो अभी अप्‍लाई कर दें क्योकि नौकरी में अब पैन कार्ड लगाना अनिवार्य होता है.
  • आधार कार्ड :- आधार कार्ड के जरिए आपकी पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती है इसलिए इसे नौकरी में अनिवार्य कर दिया गया है. अगर आपने अभी भी आधार कार्ड नहीं बनवाया है तो उसे तुरंत बनवा लें.
  • इनकम टैक्‍स रिटर्न :-इनकम टैक्‍स रिटर्न के कागजात अपने पास रखे जरूरत पड़ने पर फॉर्म 16 के जरिए प्रमाण दे सकते हैं कि आपकी आय आठ लाख रुपये से कम है.
  • जनधन योजना से जुड़ें :-पिछड़े सवर्णों को आर्थिक आधार पर नौकरियों और शिक्षा में 10% आरक्षण चाहिए तो जनधन योजना के तहत बैंक अकाउंट होना चाहिए. जनधन योजना के तहत उन्‍हीं खाताधारकों को लाभ मिलता है जो आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं.

जानिए किन-किन जातियों को मिलेगा सवर्ण आरक्षण का लाभ?

हिंदू धर्म की सभी सवर्ण जातियां –

ब्राह्मण: आचार्य, व्यास, गोस्वामी, अत्री, भार्गव,  त्रिवेदी, गौड़, झा, जोषी, कान्यकुन्ज, मिश्रा, पाण्डे, शर्मा, वैष्णव, पुरोहित, पाराषर, शाण्डिल्य, पालीवाल, वेदी, चौबे, दूबे, जमदग्नि, कौशिक, भारद्वाज, चतुर्वेदी, द्विवेदी,पाठक, द्रौण, वाजपेयी, शुक्ला, पुष्पकर्मा, सनाध्या, सारस्वत, सरयूपरीण,पारीक, तिवारी, कश्यप, ठाकुर, राय इत्यादि

भूमिहारः  शर्मा, सिन्हा, त्यागी, मिश्रा, दोनवर, कौशिक, किनवर, किस्तवर, सकरवर, सोनवर, बेनवर, भागटा, बघोचिया, बक्सरिया, बीरहारिया, बरबर, गर्गबंस चौधरी, राय, सिंह, ठाकुर,पाण्डेय,गौतम, कोलाहा, गौतम भारद्वाज, भृगुवंशी, दीक्षित इत्यादि

राजपूतः  सिसोदिया, कच्छावा, तंवर, कर्णावत, शेखावत, भाटी, कछवा, झाला, पवार, गहलोत, परिहार,बघेल, बौण्डली, चौहान, क्षत्रिय भंडारी, परमार, राठौड़, सिंह, ठाकुर इत्यादि

कायस्थः माथुर, निगम, सहाय, सिन्हा, श्रीवास्तव, कुलश्रेष्ठ, नाग, बख्शी, उदावत, सिमलोत, पंचोली, अम्बष्था करण, वर्मा, जौहरी, सक्सेना, स्वरूप, हजेला, गौड़,स्थाना, करण कायस्थ, भटनागर, दास, लाल

वैश्य/ बनियाः अग्रवाल, बनिया, गुप्ता, खण्डेवाल, लोहाना, माहेश्वरी, पौद्दार, रस्तोगी, शाह, श्रीमाली, वशिष्ट, मारवाड़ी, ओसवाल, गहलोत,बर्णवाल, गहोई, रस्तोगी, वार्ष्णेय, पूर्वी उत्तरप्रदेश में साहू, केशरी, जायसवाल इत्यादि

जैन बर्णवालः  मारवाड़ी, मथेरा, मीवाड़ा, ओसवाल, परवार, कोरवल, बाफना, सरौगी, कोठारी, बनोर, भवसर, धाकड़ जायसवाल, खण्डेलवाल, माहेश्वरी इत्यादि

पंजाबी खत्री (सिर्फ हिन्दू): अरोड़ा, बजाज, बेदी, कपूर, सेठ, नागरथ, आहलूवालिया, भल्ला, खन्ना इत्यादि

सिन्धीः मिग्लानी, आडवाणी, भानुशाली, केसरवानी, मूलचन्दाणी इत्यादि

सिक्ख धर्म की सवर्ण जातियां –

जाट सिक्खः  मंगत, मान, पुनिया, रंधावा, साही, चहल, घूमन, गिल, ग्रेवाल, हीर, जाट, कांग,सारा, सिद्धू, सिंधु, सोदिन, सोहल इत्यादि

खत्री अरोड़ा सिक्ख: अरोड़ा, अहलुवालिया, बजाज, बेदी इत्यादि

मुस्लिम धर्म की सवर्ण जातियां –

अशराफ, सैय्यद शेख:  खुराशनी, किदवई, मेमन, मिल्की, अब्बासी, अहमदिया, आलवी, अल्वी, अबीदी, शेख अंसारी, असकारी, बकारी, बोहरा, चिश्ती, दाऊदी, फरूखी,  काजीमी, खोजा,मौलिक, नकवी, कादरिया, काजी, कुरैशी (शेख),हसनी, हासिमी, जाफरी, जलाली, रिजवी, शेख, सिद्दकी, सुलेमानी, सैय्यद, तकवी, उस्मानी, जैदी इत्यादि

मुगल खान: खान, घोरघुश्ती, घौरी, काकड़, कारिदजाई, खलील, अफरीदी, बंगश, भरचे, किजिलबास, रोहिला, तजिक,बरकजाई, चक्ताई, दरजाई, दुर्रानी, लोधी, मोहम्मद, मोहम्मदजई, पठान,  तेमूरी, तुर्कमान, उजबेग, युसुफजाई इत्यादि

राजपूत:  गौतम, घोषी, जाट, कोमे-पंजाबीयन, रईकवाड़, रनघर, खानजादा, लालखानी, बेस, बडगुर्जर, भाले सुल्तान, भट्टी, बिसन, चन्देल, चौहान,मेव, मेवाती, पंवार, राठौड़, सोमबंशी, तागा, तोमर इत्यादि

अन्य सवर्ण जातियां: कुरैशी (कसाई) ,बाणबती, बाजीगर, बेहरूपी, चदवा,बंजारा,  धागीमुषी, मुर्शीद, नूनगार इत्यादि

अन्य पढ़े:

Here you will Read about Modi Cabinet Approves 10% Reservation For Economically Backward Among General Categories Upper Caste Reservation Scheme 2019 In Hindi.

7 Comments

Add a Comment
  1. Mithilesh Kumar

    I want to know that how much should be income to identify below poverty line for every caste in India. If a person whose income is 8 lakh/anum needs reservation, it means he poor! In this sense are mostly government employees and engineers poor in this country? How is it possible that a person whose income is 8 lakh /anum is identified poor.

  2. Pradeep kumar maurya

    Modi ji 2019 mai janata app ko batayegi hum jase logo ki to 1lac per anual nahi hai aur hum obc vale hai aur app jinki aay 8lac per annual hai unko reasirvation de rahe hai

  3. We are ready to leave the reservation at one condition.if you equalise to all. Equality in social,equality in education,equality in economical condition.its so simple.

  4. very good modi ji aapne itna sunder kam kia h ki aane wali pidiya aapko koti koti naman karengi..kyonki sabka ath or sabka vikas jaise aapne kam kia h …by god phir se bharat desh ki janta aapko pradhan mantri niyukt karengi…gfod bless you…

  5. General Ews ko reservation des se garibi katm kerne ke liye sarkar ka achha kadam he lekin isme ews criteria 8 lakh annum galat he ise sudhar kr real ke sath nyay kre.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mandi Bhav © 2018 Today Mandi Bhav