प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana जिसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कैबिनेट ने 13 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Agriculture Insurance) को मंजूरी दी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के किसानों को प्राकृतिक आपदा के चलते किसानों को होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान करना है । Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) के तहत किसानों को खरीफ फसल व रबी की फसल के लिये बहुत कम प्रीमियम का (किसान कल्याण के लिए न्यूनतम प्रीमियम – अधिकतम बीमा) भुगतान करना पड़ता है ।आइए Prime minister crop insurance scheme योजना के बारे में विस्तार से जानें ।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

Image By: india.gov.in

National Portal of India is a Mission Mode Project under the National E-Governance Plan, designed and developed by National Informatics Centre (NIC), Ministry of Electronics & Information Technology, Government of India. It has been developed with an objective to enable a single window access to information and services being provided by the various Indian Government entities.Read Here Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Details In Hindi | MINISTRY OF AGRICULTURE & FARMERS WELFARE

क्या है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  (PMFBY)

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना केंद्र सरकार (Agriculture central government) द्वारा किसानों की आर्थिक सुरक्षा के लिए शुरू की गई योजना है।इस स्कीम के अंतर्गत किसानों को कृषि उत्पादन में प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़, तूफान, सूखा या अकाल ,बेमौसम बारिश, ओलावृष्टि ,कीड़े और रोग आदि कारणों से फसल बर्बाद होने पर किसानों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान की जाती है।

Agriculture Insurance योजना के अंतर्गत फसल के लिए किसानों द्वारा भुगतान की जाने वाली बीमा की किस्त राशि को बहुत कम रखा गया है, ताकि उसका किसान आसानी से भुगतान कर सके। ये योजना न केवल खरीफ और रबी की फसलों के अलावा वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए भी सुरक्षा प्रदान करती है ।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के उद्देश्य

  • प्राकृतिक आपदाओं, कीट और रोगों के परिणामस्वरूप अधिसूचित फसल में से किसी की विफलता की स्थिति में किसानों को बीमा कवरेज और वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  • किसान कल्याण के लिए न्यूनतम प्रीमियम – अधिकतम बीमा
  • कृषि में किसानों की सतत प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए उनकी आय को स्थायित्व देना।
  • किसानों को कृषि में नवाचार एवं आधुनिक पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • कृषि क्षेत्र में ऋण के प्रवाह को सुनिश्चित करना।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना निर्धारित प्रीमियम राशि :-

किसानों को बीमा कम्पनियों द्वारा Fasal Bima Yojana के अंतर्गत प्रीमियम राशि खरीफ फसलों के लिए 2% और रबी फसलों के लिए 1.5% रखी गई है। वहीं हॉर्टिकल्चर (Horticulture) फसलों के लिए यह राशि 5% रखी गई है। बाकी की प्रीमियम राशि (Crop Insurance Premium amount) का भुगतान में 50% भारत सरकार एवं 50% राज्‍य सरकार द्वारा वहन की जायेगी। केंद्र सरकार ने इस योजना के लिए 5501 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Fixed premium amount

PMFBY प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना pdf Download करे 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए पात्रता | Eligibility Criteria under Fasal Bima Yojana

  1. सरकार ने इस स्कीम के लिए कोई विशेष योग्यता नही रखी है
  2. Crop Insurance योजना का लाभ देश के सभी वे कृषक उठा सकते है जिन्होंने की खेती कर रखी है
  3. इस योजना में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जोड़ने का प्रयास किया गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान इसका फायदा उठा सकें।
  4. इसमें जमीन का मालिक ही नहीं बल्कि हिस्से पर जमीन लेकर खेती करने वाला किसान भी लाभ उठा सकता है और अपनी फसल के लिए बीमा करवा सकते हैं।
  5. किसानों को अधिसूचित / बीमाकृत फसलों के लिए बीमा योग्य ब्याज होना चाहिए।
  6. इसमें बिना लोन वाले व्यक्ति ही अप्लाई कर सकते हैं। इस योजना में उन्हें जरूरी डाक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड, जमीन के कागज़ की कॉपी देनी पड़ती है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए Online Apply कैसे करे ?

फसल बीमा योजना का कहां से लें PMFBY का फॉर्म ? प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए आपको फॉर्म भरना होगा। आप ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों तरीकों से आप फॉर्म भर सकते है। ऑफलाइन तरीके से आवेदन करने के लिए आपको नजदीकी बैंक की शाखा में जाकर फसल बीमा योजना का फॉर्म भरना होगा ,pradhan mantri fasal bima yojana application form download

जबकि ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए आपको इस लिंक pradhan mantri fasal bima yojana online registration 2018 fill here:- https://pmfby.gov.in/ पर जाना होगा और वहा पर आपको https://pmfby.gov.in/selfRegistration पर जाकर सबसे पहले रजिस्ट्रेसन करना होगा उसके बाद आप

Farmer Login कर सकते है |

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए किन दस्तावेजों की है जरूरत होती है ?

  • फसल का बीमा करवाने वाले किसान की पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • किसान का पहचान पत्र जैसे की  (पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड)
  • अगर खेत खुद का है तो इसका खसरा नंबर / खाता नंबर के कागजात साथ में रखें.
  • खेत में फसल की बुवाई हुई है, इसका सबूत पेश करना होगा. इसके लिए किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे लोगों से एक पत्र लिखवा ले हैं.
  • अगर खेत हिस्से या ठेके पर लिया है तो खेत के मालिक के साथ करार की कॉपी की फोटोकॉपी जरूर साथ में ले जायें. इसमें खेत का खाता/ खसरा नंबर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए.
  • किसान का बैंक में खाता होना चाहिए .
  • फसल को नुकसान होने पर बीमे की रकम सीधे आपके बैंक खाते में पाने के लिए एक रद्द चेक लगाना जरूरी है.

 फसलों का बीमा करवाने की प्रक्रिया :-

  • (क) ऋणी कृषकों की फसलों का बीमा फसल ऋण स्‍वीकृत करने वाले बैंक/ सहकारी समिति द्वारा अनिवार्य आधार पर किया जायेगा। इसके लिये कृषक को अपना आधार नम्‍बर, भामाशाह नम्‍बर (उपलब्‍ध होने पर) मोबाईल नम्‍बर तथा बोई गई फसल का विवरण संबंधित ऋण स्‍वीकृत करने वाले बैंक/ सहकारी समिति को उपलब्‍ध करवाना होगा।
  • (ख) गैर ऋणी कृषकों की फसलों का बीमा सीएचसी केन्द्र के द्वारा करवाया जा सकता है। इसके लिये कृषकों को बोई गई फसल की जमीन की नवीनतम जमाबन्‍दी, गिरदावरी, आधार कार्ड नम्‍बर, भामाशाह नम्‍बर (उपलब्‍ध होने पर) मोबाईल नम्‍बर, कृषक के बचत खाते की प्रति तथा बोई गई फसल का विवरण प्रस्‍तुत करना होगा।
  • (ग) राजस्थान में जिलावार अधिसूचित फसलों की सूची- के लिए (यहां क्लिक करें।)

PMFBY के लिए कुछ ध्यान रखने वाली अन्य बातें

  1. फसल की बुवाई के 10 दिनों के अंदर आपको PMFBY का फॉर्म भरना जरूरी है.
  2. फसल काटने से 14 दिनों के बीच अगर आपकी फसल को प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है, तब भी आप बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं.
  3. बीमा की रकम का लाभ तभी मिलेगा जब आपकी फसल किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से ही खराब हुई हो.
  4. दावा भुगतान में होने वाली देरी को कम करने के लिए फसल काटने के आंकड़े जुटाने एवं उसे साईट पर अपलोड करने के लिए स्मार्ट फोन, रिमोट सेंसिंग ड्रोन और जीपीएस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है.
  5. कपास की फसल के बीमा का प्रीमियम पिछले साल प्रति एकड़ 62 रुपये था, जबकि धान की फसल के लिए 505.86 रुपये, बाजरा के लिए 222.58 रुपये और मक्का के लिए यह 202.34 रुपये प्रति एकड़ था.

फसल का बीमा मिलने की समयावधि :-

  • फसल उपज के ऑकडे Insurance company को उपलब्‍ध होने के 15 दिन के अंदर बीमा क्‍लेम भुगतान का प्रावधान किया गया हैा

बीमा क्लेम (दावों) का भुगतान :-

  • कृषकों की उपज में कमी के आधार पर Notified insurance company द्वारा सीधे ही डीबीटी (Direct Benefit Transfer or DBT)के माध्‍यम से Insurance claim किसानों के खाते में जमा किया जायेगा। राजस्थान के कृषक सम्‍पूर्ण अधिसूचना के लिये (यहां क्लिक करें।)।

किसान कहां सम्पर्क करें :-

  • ग्राम पंचायत स्तर पर :- कृषि पर्यवेक्षक
  • पंचायत समिति स्तर पर :- सहायक कृषि अधिकारी
  • जिला स्तर पर :- उप निदेशक कृषि (विस्तार), जिला परिषद

State Wise Farmer Details Report – Kharif 2017 Download

वेब पोर्टल और मोबाइल एप

भारत सरकार ने हाल ही में सेवा को और अधिक बेहतर बनाने प्रशासन एवं एजेंसियों के बीच सही तालमेल तथा प्रक्रिया में पारदर्शिता के लिए एक बीमा पोर्टल शुरू किया है. एंड्रॉयड आधारित फसल बीमा एप भी शुरू किया गया है, जो फसल बीमा, कृषि सहयोग और किसान कल्याण विभाग (डीएसी एवं परिवार कल्याण) की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है.

Read more at:

जाने किसानों का फायदा किसान क्रेडिट कार्ड में :-

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Details in Hindi में जानकारी आपको कैसी लगी हमे कमेन्ट करके बताये तथा इसे Whatsaap , Facebook पर अवश्य शेअर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान भाई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठा सके . धन्यवाद 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *