2020 तक किसानों की आय दोगुनी हो जायेगी जाने कैसे ?

नमस्कार किसान भाइयो किसानों का फायदा जैसा की ऊपर टाइटल में दिया गया है की साल 2020 तक सभी किसानों की आय दोगुनी  (kisano ki aay dugni) हो जायेगी ऐसा हम नही कह रहे बल्कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई एक केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए जिनमे से ये एक है ।

Kisano ki Aay Dugni | How to double farmers income

6 दिसम्बर 2018 को केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने कृषि क्षेत्र का निर्यात 2022 तक दोगुना कर 60 अरब डालर पर पहुंचाने के लक्ष्य को सामने रखते हुए कृषि निर्यात नीति को मंजूरी दे दी गई है । Modi Govt To Double Farmers Income Approves Agriculture Export Policy.

kisano ki aay dugni | Double Farmers Income Approves Agriculture Export Policy

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने मंत्रिमंडल के इस निर्णय की जानकारी देते बताया कि Agricultural export policy का मकसद क्षेत्र से चाय, काफी, चावल आदि के निर्यात को बढ़ावा देना है। इससे Global Agriculture Market में भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसे भी पढ़े : गेहूं, जौ, चना, सरसों और तारामीरा रबी फसल बीमा 2018-19 की अधिसूचना जारी

वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु  ने बताया की नीति में जैविक उत्पादों के निर्यात पर लगे प्रतिबंधों को हटाने पर भी जोर दिया गया है। हांलाकि एक अधिकारी के मुताबिक इस नीति के क्रियान्वयन में अनुमानित 1,400 करोड़ रुपये का वित्तीय प्रभाव होगा।

कैबिनेट की इस बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए Union minister सुरेश प्रभु ने कहा कि किसानों को एक स्थिर व्यापार नीति व्यवस्था के माध्यम से निर्यात के अवसरों का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा की पॉलिसी मोस्ट Organic और Processed foods पर Export Restrictions को हटा देगी और कृषि उत्पाद निर्यात को भी विविधता प्रदान करेगी। ये भी पढ़े : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

Kisano ki Aay Dugni Kaise Hogi

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि सीसीईए ने आरईसी में सरकार की 52.63 फीसदी हिस्सेदारी, प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण के साथ पीएफसी को बेचने को मंजूरी दी है।

 

1 Comment

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mandi Bhav © 2018 Today Mandi Bhav